नींद की गोलियों और पेनकिलर्स की जगह कैनबिस (भांग) है फायदेमंद

0
479
Listen this post in Audio

नयी दिल्ली , 21 अगस्त । अमेरीका में एक हजार लोगों पर स्टडी की गई जो लीगल मरिजुआना (गांजा) ले रहे थे। इनमें से 65% लोग दर्द के लिए कैनबिस (भांग) का इस्तेमाल कर रहे थे। इनमें से 80 प्रतिशत लोगों को इसका काफी फायदा हुआ।

painkillers
दर्द और नींद से बचने के लिए मरिजुआना (गांजा) बेहद फायदेमंद है। जो लोग पेन किलर या नींद की गोलियों से बचना चाहते हैं वे इसका इस्तेमाल कर रहे हैं। यह ओपियॉइड्स (चिकित्सा के लिए इस्तेमाल होने वाला अफीम जैसा तत्व) को भी रिप्लेस कर सकता है। अमेरीका में हुई एक स्टडी में यह बात सामने आई है।

अमेरीका में एक हजार लोगों पर स्टडी की गई जो लीगल मरिजुआना (गांजा) ले रहे थे। इनमें से 65% लोग दर्द के लिए कैनबिस (भांग) का इस्तेमाल कर रहे थे। इनमें से 80 प्रतिशत लोगों को इसका काफी फायदा हुआ। यह स्टडी ‘जर्नल ऑफ साइकोऐक्टिव ड्रग्स’ में छापी गई है।

इस स्टडी में 74 प्रतिशत लोगों ने कहा कि लीगल मरिजुआना से उन्हें नींद में काफी फायदा हुआ है। इनमें से ज्यादातर लोगों ने नींद के लिए ली जाने वाली दवा छोड़ दी थी। इस रिसर्च में यह भी पाया गया कि भांग ऑपियॉइड के इस्तेमाल को कम करने में मदद करता है। हालांकि, रिसर्चर्स ने कहा है कि इसके चिकित्सा संबंधी फायदों को अभी और समझने की जरूरत है।

पेनकिलर्स और अन्य दवाइयां लोगों की मदद तो करती हैं लेकिन इनके कई साइडइफेक्ट्स होते हैं। इनमें से कुछ जानलेवा भी साबित हो सकता हैं। शरीर में ओपियॉइड की टॉलरेंस बढ़ जाती है और इसके असर के लिए लोग डोज बढ़ा देते हैं। इससे ओवरडोज का खतरा बढ़ता है। वहीं नींद की गोलियां भी आपको नींद तो देती हैं लेकिन फिर इसकी आदत हो जाती है और लोग इनके बिना सो नहीं पाते हैं। वहीं इनका असर दिन में भी रहता है जिससे आपकी सोशल लाइफ पर असर पड़ता है। यही वजह है कि कुछ लोग इसकी बजाय मरिजुआना की मदद ले रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here